Friday, August 7, 2020
Home एक बिहारी सब पर भरी बिहार के वीरों ने 18 चीनी सैनिकों का गर्दन तोड़ चेहरे को...

बिहार के वीरों ने 18 चीनी सैनिकों का गर्दन तोड़ चेहरे को पत्थरों से कुचल दिया, जानिये उस रात बिहार रेजीमेंट के जवानों की शौर्यगाथा

पटना: भारत-चीन सीमा पर कयामत की उस रात 16 बिहार रेजीमेंट के जवानों ने बहादुरी की जो कहानी रच दी, वो दुनिया भर में सैन्य अभियानों के लिए मिसाल बन गयी है. प्रत्यक्षदर्शियों की जुबानी बिहार रेजीमेंट के जवानों की जो कहानी सामने आ रही है वो रोंगटे खड़े कर देने वाली है. भारत-चीन सीमा पर उस रात चीनी सैनिकों की तादाद भारतीय सेना की तुलना में पांच गुणा ज्यादा थी. लेकिन उसके बावजूद बिहार रेजीमेंट के जवानों ने दुश्मनों के होश उड़ा दिये.




जानिये उस रात की पूरी कहानी

अंग्रेजी अखबार डेक्कन हेराल्ड ने सैन्य सूत्रों के हवाले से बिहार रेजीमेंट की शौर्य की पूरी कहानी छापी है. इसके मुताबिक बिहार रेजीमेंट के जवानों ने प्राचीन युद्ध कला का अविश्वसनीय प्रयोग किया. भारत-चीन सीमा पर कयामत की उस रात सबसे पहले चीनी सैनिकों ने धोखे से बिहार रेजीमेंट के कमांडिंग ऑफिसर कर्नल बी. संतोष बाबू पर वार कर उन्हें मार डाला था. उसके बाद बिहार रेजीमेंट के सैनिकों के सब्र का बांध टूट गया.




दरअसल गलवान घाटी की सीमा पर उस वक्त भारतीय सैनिकों की संख्या काफी कम थी. जब चीनियों ने हमला किया तो बिहार रेजीमेंट के जवानों ने बगल की चौकी से मदद मांगी. भारतीय सेना का “घातक”  दस्ता उनकी मदद के लिए वहां पहुंचा. बिहार रेजीमेंट और घातक दस्ते के सैनिकों की कुल तादाद सिर्फ 60 थी. जबकि दूसरी ओर दुश्मनों की तादाद काफी ज्यादा थी.

अपने कमांडिंग ऑफिसर की हत्या से बेकाबू हुए बिहार रेजीमेंट के जवानों ने बिना देर किये चीनी सैनिकों पर हमला बोल दिया. फायरिंग करना मना था. लिहाजा प्राचीन युद्ध शैली में पत्थर, डंडा और भाले को हथियार बना लिया गया. बिहार रेजीमेंट के जवानों ने जान की परवाह किये बगैर चीनी सैनिकों पर हमला बोल दिया.

18 चीनी सैनिकों का गर्दन तोड़ कर चेहरे को कुचल डाला

प्रत्यक्षदर्शी बताते हैं कि बिहार रेजीमेंट के जवानों ने कम से कम 18 चीनी सैनिकों को कुचल कर मार डाला. एक सैन्य अधिकारी ने बताया

“कम से कम 18 चीनी सैनिकों का गर्दन की हड्डी टूट चुकी थी और सर झूल रहा था. कुछ के चेहरे इतनी बुरी तरह से कुचल दिये गये थे कि उन्हें पहचान पाना संभव नहीं था. चीनी सैनिक भी हमला कर रहे थे लेकिन भारतीय सैनिकों का हमला इतना भयानक था कि चीनी संभल नहीं पाये.”

ये लड़ाई लगभग चार घंटे तक चलती रही. अपने कमांडिंग ऑफिसर की मौत से बौखलाये भारतीय सैनिक लगातार नारे लगाते हुए हमला कर रहे थे. हमले की पहले से तैयारी करके बैठे चीनियों के पास तलवार और रॉड थे. भारतीय सैनिकों ने उनसे वे हथियार छीन लिये और उन पर हमला करना शुरू कर दिया.




सूत्रों के मुताबिक दुश्मनों को हर हाल में सबक सिखाने पर आमदा बिहार रेजीमेंट के जवान इतने खौफनाक हो गये थे कि सैकड़ों की तादाद में जमे चीनी भागने लगे. भारतीय जवानों ने उनका पीछा करना शुरू कर दिया. चीनियों का पीछा करते करते ही भारतीय जवान चीन के क्षेत्र में काफी आगे तक पहुंच गये. उनमें से ही कुछ पकड़ लिये गये. जिन्हें शुक्रवार को चीन ने रिहा किया.

अपने सैनिकों की लाश इकट्ठा करने में चीनियों की हालत पस्त हो गयी

बिहार रेजीमेंट के जवानों के रौद्र रूप का आलम ये था कि चीन को अपने सैनिकों की लाश इकट्ठा करने में पसीने छूट गये. चीनियों के लाश पूरी घाटी में बिखरे पड़े थे. ज्यादातर के चेहरे कुचले हुए थे. उनकी हड्डियां कई जगह से टूटी हुई थी. मारे गये चीनी सैनिकों को चेहेरे से पहचान पाना असंभव था. रात के हमले के बाद पूरे दिन चीनी खेमा अपने सैनिकों की लाशों को समेटने में लगा रहा.

Source: First Bihar

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

पटना में 7 दिनों के लिए लॉकडाउन, डीएम ने किया एलान

पटना: राजधानी पटना में कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए फिर से लॉकडाउन लगाने का बड़ा फैसला लिया गया है. भागलपुर में 5...

सावन में पहली बार टूटी कांवर यात्रा की परंपरा, दो लाख भक्तों ने ऑनलाइन किए बाबा बैद्यनाथ के दर्शन

पटना: विश्व प्रसिद्ध राजकीय श्रावणी मेले का इस बार आयोजन नहीं हुआ है, लेकिन बाबा बैद्यनाथ के भक्तों ने सावन की पहली सोमवारी पर...

बिहार के वीरों ने 18 चीनी सैनिकों का गर्दन तोड़ चेहरे को पत्थरों से कुचल दिया, जानिये उस रात बिहार रेजीमेंट के जवानों की...

पटना: भारत-चीन सीमा पर कयामत की उस रात 16 बिहार रेजीमेंट के जवानों ने बहादुरी की जो कहानी रच दी, वो दुनिया भर में सैन्य...

सीएम नीतीश का बड़ा एलान, बिहार के शहीद जवानों के परिजनों को दिए जायेंगे 36-36 लाख रुपये और एक आश्रित को नौकरी

पटना: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक बड़ा एलान किया है. भारत-चीन सीमा पर स्थित गलवान घाटी में शहीद जवानों के परिजनों को मुख्यमंत्री...

Recent Comments